शनिवार, 1 जुलाई 2017

सावन आया है

सावन ने
तो
जैसे आज
धरती को
खुशहाल किया है।
.....
बादलों ने
गरज कर
भूमिपुत्रों का
आव्हान किया है।
.......
बरसती बूंदों ने
सजनी का
चेहरा
क्या कमाल किया है।
........
खेतों पर
बजते
घुंघरूओं ने
जीवन का
आधार दिया है।
...........
भारत बसता है गांवों में
धरा ने फिर
संदेश दिया है।
..........
©® करन जांगिड़ kk

4 टिप्‍पणियां:

  1. waah...
    shaandar..
    bahut khoob..,
    भारत बसता है गांवों में
    धरा ने फिर
    संदेश दिया है।

    उत्तर देंहटाएं
  2. waah...
    shaandar..
    bahut khoob..,
    भारत बसता है गांवों में
    धरा ने फिर
    संदेश दिया है।

    उत्तर देंहटाएं
  3. बढ़िया...नियमित लिखिये

    हम आपका अभिनन्दन करते हैं. अनंत शुभकामनायें. साधुवाद..
    #हिन्दी_ब्लॉगिंग

    उत्तर देंहटाएं

A letter to swar by music 30

Dear SWAR, ............ आसमां को ताकता हूं कि कहीं बादल तो नजर आयें, आंखों के बादल मगर है कुछ देखने भी ना दें मुझको। ............ देखो ...