A real tribute to dr. Kalaam

#A_real_tribute_to_Kalaam_sir

कौन कहता है कि कलाम चले गये...
वो तो जिंदा है माँ भारती के कण कण में,
वो तो जिंदा है खिलखिलाते बचपन में!
वो तो जिंदा है युवाओं के जोश और ज़ुनून में,
वो तो जिंदा है भारतीय आदर्श और कानून में!!

हाँ कलाम तो जिंदा है गीता के ज्ञान में,
कहो पार्थ फिर से धर्म युद्ध कर पाओगे!
हाँ कलाम तो जिंदा है रामायण की चौपाइयों में,
कहो राम फिर से राम राज्य ला पाओगे!!
हाँ कलाम तो जिंदा है त्रिपिटक ग्रंथों में,
कहो बुद्ध विश्वशांति का संदेश फिर से दे पाओगे!
हाँ कलाम तो जिंदा है अग्नि की उड़ान में,
कहो करन कोई शत्रु आँख दिखाये तो उसकी आँख निकाल पाओगे
#कलाम_सर_को_अर्पित
#जांगिड़_kk

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

दस्तक

बचपन का सावन

जीत से हार की ओर