सोमवार, 20 फ़रवरी 2017

Alone boy 5

#Alone_boy_5
कंगन
बिंदिया
काजल
कंघा
कोई शायद
किसी और के
लिये
सज सँवर
रहा है अब.......
जानता था
वो भी
एक दिन
जाना ही है
उसको
रह जायेगा
अकेला ही
वो तब..........
वो खुद भी
लेकर
बैठा है
ये साज
श्रृंगार के
सामान मगर
मगर क्या मालुम था
उसे
यहीं उसको
सतायेंगे
अकेले में जब......
वो तन्हा
अकेले में
बस देख कर
इनको
रोज
अश्रु बहाता है
और सोचता है कि
क्या वो आयेगी फिर
या ये युहीं
उसे
चिड़ाते रहेंगे
अब...........
©® जाँगीड़ करन kk
20/02/2017___6:00AM

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दिल्ली वाली गर्लफ्रेंड

#आया_दिल्ली_वाली_गर्लफ्रेंड_छोड़_छाड़_के.... हां! तकरीबन चार साल पहले यह गाना सुनने में बहुत अच्छा लगता था, और इसका विडियो तब से आज तक है म...